Saturday, 17 January 2015

तुझे कौन वोट देगा ?

हर कोई यहाँ बिजनेस वाला है , व्यापारी है।
अगर नहीं भी है तो बनने की इच्छा भारी है।
नियम हैं बड़े तंग , करने पड़ते हैं भंग।
प्रॉफिट ज्यादा  होता है , कम  दिखाना पड़ता है।
फ्री मैं कुछ नहीं होता,  खाना - खिलाना पड़ता है।
पक्के कागज़ के बिना तू काम होने नहीं देगा !
कौन तुझे वोट देगा ?


प्राइवेट हो या सरकारी , गरीब है बेचारा कर्मचारी।
उसपर खर्चे भारी , टैक्स चुराना है लाचारी।
हम सारे फर्जी इन्वेस्टमेंट दिखाते हैं।
अपने ही घर की रेंट रिसीप्ट IT रिटर्न में लगाते हैं।
सौ रूपए डोनेट करके लाख की रसीद बनवाते  हैं.
जैसे तैसे इधर उधर से अपना काम चलाते हैं।
टैक्स तू पूरा लेगा !! कौन तुझे वोट देगा ??


भारत में रोज़ कोई पर्व है , ड्रिंक & ड्राइव हमारा गर्व है।
असली प्रमाण पत्र यहाँ मुश्किल से बन पाते हैं ,
जाली सर्टिफिकेट से बहुतेरे नौकरी पाते हैं।
अब रात में तेज़ गाडी से लोग मर ही जाते हैं।
करते नहीं हैं , पर गलती से रेप हो जाते हैं।
तू ज़रा सी गलती पर बड़ी बड़ी सज़ा देगा  !!!
कौन तुझे वोट देगा ???

No comments:

Post a Comment